अदाणी नेचुरल रिसोर्सेज द्वारा ‘प्रगति’ परियोजना का शुभारम्भ, माइनिंग सरदार दक्षता प्रमाणपत्र परीक्षा की निःशुल्क तैयारी  

सिंगरौली, दिसंबर 22, 2023: सरई तहसील अंतर्गत सुलियरी कोयला खदान से प्रभावित गांवों के सक्षम उम्मीदवारों के लिए खदान क्षेत्र में अदाणी नेचुरल रिसोर्सेज द्वारा एक महत्वपूर्ण पद माइनिंग सरदार प्रमाण पत्र दक्षता परीक्षा के लिए तैयारी प्रारम्भ किया गया है। एमएफए बिल्डिंग, झलरी, सुलियरी खदान, सिंगरौली में ‘प्रगति’ परियोजना के नाम से शुरू किये गए इस निःशुल्क प्रशिक्षण कार्यक्रम का शुभारम्भ शुक्रवार को किया गया। इस प्रशिक्षण के प्रथम बैच के लिए आमडांड, बेलवार, डोंगरी, झलरी, खनुआ नया टोला और मझौली पाठ गांवों के 12 वीं पास कर चुके कुल 32 सक्षम उम्मीदवारों का चयन किया गया है। इन्हें कुशल प्रशिक्षक के नेतृत्व में इस परीक्षा में उत्तीर्ण होने के लिए जिम्मेदारी पूर्वक तैयारी की शुरुआत की गयी।

इस कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य एक वैधानिक नियोक्ता के रूप में परियोजना प्रभावित गांवों के सक्षम युवाओं को कोयला खनन उद्योग से जोड़ने के लिए जरुरी व्यावसायिक प्रशिक्षण देकर उनमें कार्यकुशलता तथा जिम्मेदारी के स्तर को बढ़ाना है। खान सुरक्षा महानिदेशालय (डीजीएमएस), धनबाद द्वारा कोयला खदानों में माइनिंग सरदार पद के लिए हर साल दिसम्बर माह में दक्षता प्रमाण पत्र की परीक्षा आयोजित की जाती है। यह पद किसी भी कोयला खनन कंपनी में बहुत ही महत्वपूर्ण और जिम्मेदारी वाला होता है। साथ ही इस इम्तिहान में सफल होने से कर्मचारियों के वेतन और तरक्की की संभावनाएं बेहतर हो जाती हैं।

प्रोजेक्ट ‘प्रगति’ के शुभारंभ के मौके पर अदाणी नेचुरल रिसोर्सेज के तरफ से सिंगरौली के चीफ ऑफ़ क्लस्टर श्री बच्चा प्रसाद, महाप्रबंधक तकनीकी प्रशिक्षण, श्री रवि रेमी, क्लस्टर एचआर हेड श्री विकास सिंह और रांची के प्रसिद्ध प्रशिक्षक श्री बिजय किशोर की उपस्थिति ने कार्यक्रम को सफल बनाया। अपने शुभेच्छा सन्देश में क्लस्टर प्रमुख श्री बच्चा प्रसाद ने कहा कि,” सुलियरी परियोजना से प्रभावित गांवों में समावेशी विकासात्मक प्रक्रियाओं को चलाया जा रहा है। डीजीएमएस द्वारा कोयला खदानों में एक वैधानिक पद के लिए आयोजित माइनिंग सरदार प्रमाण पत्र की दक्षता परीक्षा की तैयारी के लिए आज हमने ‘प्रगति’ नाम से प्रशिक्षण कार्यक्रम शुरू किया है, जिससे इस खदान में कार्यरत प्रोजेक्ट प्रभावित कर्मचारियों को परीक्षा की बारीकियों को समझाया जायेगा। वहीं सक्षम उम्मीदवारों को इस इम्तिहान को पास करके अन्य खदानों में वैधानिक पदों पर नियुक्ति मिल सकती है।” कार्यक्रम के दौरान प्रशिक्षक व फैसिलिटेटर श्री बिजय किशोर ने प्रशिक्षण पद्धति तथा अन्य दिशानिर्देशों की जानकारी दी एवं प्रशिक्षणार्थियों का हौसला बढ़ाया।

इस दौरान उपस्थित प्रतिभागियों में झलरी गांव के राम नारायण प्रजापति ने कहा कि, “मैं सुलियरी खदान में पिछले दो सालों से कार्यरत हूं। मुझे पता लगा कि अदाणी नेचुरल रिसोर्सेज द्वारा राष्ट्रीय स्तर की माइनिंग सरदार प्रमाण पत्र की परीक्षा के लिए निःशुल्क तैयारी करायी जाएगी। मैंने नौकरी के बेहतर अवसर के लिए इस विशेष परीक्षा की तैयारी हेतु प्रवेश लिया है। मुझे पूर्ण विश्वास है कि यहां के विशेषज्ञ प्रशिक्षक की सहायता से भविष्य में मुझे भी इस परीक्षा में सफलता मिलेगी।“ जबकि मझौली पाठ गांव के रहनेवाले व्यास नारायण साह का कहना है कि, ” सुलियरी खदान में कार्य कर रहा हूँ और माइनिंग सरदार दक्षता प्रमाण पत्र के लिए यहां नामांकन लेकर मुझमें आत्मविश्वास बढ़ा है एवं भरोसा है कि इस परीक्षा में मुझे कामयाबी मिलेगी, जिससे मेरा भविष्य उज्जवल होगा।”

अदाणी नेचुरल रिसोर्सेज द्वारा संचालित सुलियरी खदान, आंध्रप्रदेश मिनरल डेवलपमेंट कार्पोरेशन (एपीएमडीसी) की खदान है जो एक जिम्मेदार खनिक के अंतर्गत समुदायों एवं कर्मचारियों को बेहतर और उज्ज्वल भविष्य उपलब्ध कराने के लिए लगातार प्रयत्नशील है। यह उल्लेखनीय है कि एपीएमडीसी ने स्पर्धात्मक बोली के द्वारा अदाणी नेचुरल रिसोर्सेज को खदान के विकास और संचालन के लिए नियुक्त किया है जिसने स्थानीय युवाओं के सशक्तिकरण और अच्छे भविष्य के लिए यह अनूठा प्रयास शुरू किया है।

Shares:
Post a Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *