गोवा फरवरी में करेगा इंडिया एनर्जी वीक (आईईडब्ल्यू), 2024 की मेजबानीआईईडब्ल्यू के दूसरे संस्करण में 100 से अधिक देशों के 35,000 से अधिक प्रतिनिधियों के शामिल होने की उम्मीद है

गोवा फरवरी में करेगा इंडिया एनर्जी वीक (आईईडब्ल्यू), 2024 की मेजबानी
आईईडब्ल्यू के दूसरे संस्करण में 100 से अधिक देशों के 35,000 से अधिक प्रतिनिधियों के शामिल होने की उम्मीद है
आईईडब्ल्यू ऊर्जा सुरक्षा, जलवायु परिवर्तन चुनौतियों से निपटने के लिए भारत की सफल रणनीतियों का प्रदर्शन करेगा
आईईडब्ल्यू ग्लोबल एनर्जी स्टेकहोल्डर्स को विचारों के आदान-प्रदान और अवसरों का पता लगाने के लिए एक सार्थक मंच प्रदान करता है
गोवा प्रशासन नोडल मंत्रालय के साथ मिलकर आईईडब्ल्यू की तैयारी कर रहा है, जो यह सुनिश्चित करता है कि स्थानीय जीवन प्रभावित न हो

डायनेमिक और वाइब्रेंट गोवा सबसे प्रतिष्ठित ऊर्जा कार्यक्रमों में से एक, भारत ऊर्जा सप्ताह / इंडिया एनर्जी वीक (आईईडब्ल्यू), 2024 के दूसरे संस्करण की मेजबानी करने के लिए तैयार है। उक्त इवेंट का आयोजन 6 से लेकर 9 फरवरी तक पणजी के दक्षिणी भाग में स्थित आईपीएसएचईएम-ओएनजीसी ट्रेनिंग इंस्टिट्यूट में किया जाएगा।
आईईडब्ल्यू को इस साल की शुरुआत में आयोजित किए गए पहले संस्करण में अपार सफलता मिली, जिसका उद्घाटन भारत के माननीय प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी के करकमलों द्वारा किया गया था।

आईईडब्ल्यू 2023 में, भारत के ऊर्जा क्षेत्र में सुदृढ़ता और माँग के आगामी केंद्र के रूप में इसकी क्षमता को मंत्रियों, सीईओ और ऊर्जा कंपनियों ने भी स्वीकार किया। उन्होंने भारत द्वारा ऊर्जा परिवर्तन के लिए एक रोडमैप तैयार करने की भी सराहना की, ताकि घरेलू आबादी की जरूरतों को पूरा किया जा सके। आईईडब्ल्यू 2023 ने खुद को एक प्रमुख ऊर्जा कार्यक्रम के रूप में साबित किया, जिसमें 149 देशों के लगभग 37,000 उपस्थित लोगों ने अपनी उपस्थिति दर्ज कराई। इसके अलावा, 326 कंपनियों ने एक्सहिबिटर्स के रूप में हिस्सा लिया और 315 प्रवक्ताओं ने 80 से अधिक कॉन्फ्रेंस सेशंस में अपनी अंतर्दृष्टि साझा की।.

इंडिया एनर्जी वीक, 2024 का आयोजन भारत सरकार के पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय के तत्वावधान में फेडरेशन ऑफ इंडियन पेट्रोलियम [एफआईपीआई] उद्योग द्वारा किया गया है, जो इंडिया एनर्जी वीक, 2024 उद्योग विशेषज्ञों, नीति निर्माताओं, शिक्षाविदों और उद्यमियों के बीच सार्थक चर्चा, ज्ञान के आदान-प्रदान और सहभागिता के लिए प्रमुख स्त्रोत के रूप में काम करेगा।

आईईडब्ल्यू 2024 में 100 से अधिक देशों के 35,000 से अधिक लोगों, 350 से अधिक एक्सहिबिटर्स, 400 से अधिक वक्ताओं और 4,000 से अधिक प्रतिनिधियों के शामिल होने की की उम्मीद है। यह भारतीय ऊर्जा सप्ताह प्रदर्शकों की एक विस्तृत श्रृंखला की मेजबानी करेगा। इसमें तेल क्षेत्र सेवाओं की प्रमुख कम्पनियाँ भी शामिल होंगी, जो कार्यक्रम के सुचारु रूप से संचालन के लिए एकत्रित होंगी।

आईईडब्ल्यू 2024 के दौरान, मंत्री स्तरीय, नेतृत्व, तकनीकी सत्र और अन्य बैठकों का आयोजन किया जाएगा। इन बैठकों में वैश्विक दक्षिण के ऊर्जा परिवर्तन, भविष्य के अनुरूप तैयार किए गए ऊर्जा स्टैक के निर्माण, बेहतर ऊर्जा विकल्प और इसके स्थानीयकरण के लिए वैकल्पिक ईंधन के रोडमैप तैयार करने, ऊर्जा के औद्योगीकरण और विनिर्माण प्रक्रियाओं पर क्षेत्रीयकरण व वैश्वीकरण जैसे विभिन्न विषयों पर चर्चा की जाएगी।

Shares:
Post a Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *