भोपाल– मंत्रियों को विभाग बंटते ही सप्ताह भर के अंदर होगी बड़ी प्रशासनिक सर्जरी।

सीएम सचिवालय से हो चुकी है प्रशासनिक सर्जरी की शुरुआत।

सीएम ने उप सचिव व प्रमुख सचिव को बदल दिया है।

सचिवालय से कई और अफसर हटाएं जा रहे हैं इसके साथ ही कलेक्टरों की जंबो लिस्ट की तैयारी।

तबादले को लेकर सीएम सचिवालय ने सामान्य प्रशासन विभाग से आईएएस अफसरों की पोस्टिंग की जानकारी मांगी।

जानकारी में मैदानी अफसर, नगर मंडल, विंध्याचल, सतपुड़ा और मंत्रालय के साथ-साथ लूप लाइन में पड़े अफसरों के नाम शामिल।

भोपाल, इंदौर, जबलपुर, ग्वालियर,उज्जैन, विदिशा, बैतूल, राजगढ़,बालाघाट,सागर,नर्मदापुरम, शहडोल, सतना, खंडवा, सिंगरौली कटनी, सीधी, नरसिंहपुर, देवास सहित 2 दर्जन से ज्यादा कलेक्टर और आधा दर्जन संभाग आयुक्त की होने जा रही बदली।

इस बदली में 26 से ज्यादा सीईओ जिला पंचायत, 8 निगम आयुक्त, 30 से अधिक कलेक्टर, 6 संभाग आयुक्त, दो दर्जन से ज्यादा निगम मंडल के एमडी दर्जन भर विभाग आयुक्त के साथ ही साथ 50 से ज्यादा सचिव, प्रमुख सचिव, अपर मुख्य सचिव और अन्य स्थानों पर पदस्थ अधिकारी शामिल।

कलेक्टर को बदले जाने का सबसे बड़ा कारण यह भी माना जा रहा है की 2015 बैच के अफसर को फील्ड पर भेजा जाना है, वहीं 2014 बैच के तीन आईएएस अभी तक कलेक्टर नहीं बन सके हैं इनमें नेहा मीना और आदित्य सिंह प्रमुख है।

मंत्रालय में पदस्थ तीन दर्जन से ज्यादा आईएएस अधिकारियों को 3 साल से फील्ड में नही मिली पोस्टिंग

आईएएस अफसर नेह मारव्या, रविंद्र सिंह, गिरीश शर्मा, चंद्रशेखर बालिंबे,अजय गुप्ता, धनंजय प्रताप सिंह, ज्ञानेश्वर पाटिल,अजीत कुमार,शिल्पा गुप्ता,सरिता प्रजापति मीनाक्षी सिंह और अभिषेक सिंह इन अफसरों को नहीं मिला फील्ड में जाने का मौका।

Shares:
Post a Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *