“मणिपुर से नहीं मिली मंजूरी: भारत जोड़ो न्याय यात्रा की शुरुआत, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष का दावा – ‘मुख्यमंत्री को मना नहीं पाए'”2024

कांग्रेस को भारत जोड़ो न्याय यात्रा की अनुमति देने पर

मणिपुर सरकार ने 14 जनवरी से कांग्रेस की भारत जोड़ो न्याय यात्रा को मंजूरी नहीं दी है। इस स्थान से इस यात्रा की शुरुआत होनी चाहिए। राज्य के कांग्रेस प्रमुख केशम मेघचंद्रा ने आज (10 जनवरी) को मुख्यमंत्री एन बीरेन से मुलाकात की और उनसे इस भारत जोड़ो न्याय यात्रा की अनुमति देने की मांग की, लेकिन मुख्यमंत्री ने ऐसा नहीं किया। Keshav ने मीडिया को बताया कि उन्होंने मुख्यमंत्री को मनाने की कोशिश की, लेकिन सफल नहीं हुए।

मंगलवार (9 जनवरी) को CM बीरेन सिंह ने कहा कि कांग्रेस को भारत जोड़ो न्याय यात्रा की अनुमति देने पर सक्रियता से विचार चल रहा है। सुरक्षा एजेंसियों से रिपोर्ट मिलने के बाद इस पर निर्णय होगा।

कांग्रेस को भारत जोड़ो न्याय यात्रा की अनुमति देने पर

वेणुगोपाल ने कहा कि सरकार को इसे राजनीतिकरण नहीं करना चाहिए क्योंकि यह राजनीतिक यात्रा नहीं है। भारत जोड़ो न्याय यात्रा का उद्देश्य अशांत मणिपुर के लोगों के घावों को भरना है और द्वेष को दूर करके प्रेम का संदेश फैलाना है।

दिल्ली में केसी वेणुगोपाल और कांग्रेस के जनरल सेक्रेटरी जयराम रमेश ने इस यात्रा का रोड मैप और पैम्फलेट जारी किया।
14 राज्यों और 85 जिलों को शामिल करेगी भारत की न्याययात्रा
14 जनवरी से राहुल गांधी, एक कांग्रेस सांसद, भारत जोड़ो न्याय यात्रा शुरू करेंगे। यात्रा मणिपुर से शुरू होकर 20 मार्च को मुंबई में समाप्त होगी। यह यात्रा लोकसभा चुनाव से लगभग चार महीने पहले 14 राज्यों और 85 जिलों को कवर करेगी।

27 दिसंबर को पार्टी हेडक्वार्टर में जयराम रमेश और कांग्रेस महासचिव केसी वेणुगोपाल ने मीडिया को भारत न्याय यात्रा की जानकारी दी। पार्टी नेताओं ने कहा कि भारत जोड़ो यात्रा के बाद कांग्रेस भारत न्याय यात्रा करेगी।

यह मणिपुर से शुरू होकर नगालैंड, असम, मेघालय, पश्चिम बंगाल, बिहार, झारखंड, ओडिशा, छत्तीसगढ़, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, राजस्थान और गुजरात से होकर महाराष्ट्र में समाप्त होगा।

मल्लिकार्जुन खड़गे यात्रा को मंजूरी देंगे
वेणुगोपाल ने बताया कि पार्टी अध्यक्ष खड़गे इस यात्रा को मंजूर करेंगे। आर्थिक, सामाजिक और राजनीतिक न्याय भारत जोड़ो न्याय यात्रा का लक्ष्य है। राहुल इस यात्रा पर युवा, महिला और हाशिए पर पड़े लोगों से मिलेंगे। बस यात्रा अधिक लोगों तक पहुंचाएगी। यात्रा में थोड़ा पैदल भी चलाया जाएगा।

इससे पहले राहुल गांधी ने 7 सितंबर 2022 से 30 जनवरी 2023 तक भारत जोड़ो यात्रा की थी। 145 दिनों की यात्रा तमिलनाडु के कन्याकुमारी से शुरू होकर जम्मू-कश्मीर में खत्म हुई थी। तब राहुल ने 3570 किलोमीटर की यात्रा में 12 राज्यों और 2 केंद्र शासित प्रदेशों को कवर किया था।

श्रीनगर में यात्रा के समापन के मौके पर शेर-ए-कश्मीर क्रिकेट स्टेडियम में राहुल ने कहा था- मैंने यह यात्रा अपने लिए या कांग्रेस के लिए नहीं बल्कि देश की जनता के लिए की है। हमारा उद्देश्य उस विचारधारा के खिलाफ खड़ा होना है जो इस देश की नींव को नष्ट करना चाहती है।

यात्रा के दौरान राहुल ने 12 सभाओं को संबोधित किया था, 100 से ज्यादा बैठकें और 13 प्रेस कॉन्फ्रेंस की थीं। उन्होंने चलते हुए 275 से ज्यादा चर्चाओं में हिस्सा लिया, जबकि कहीं रुककर 100 के करीब चर्चाएं कीं
read more
read more

Shares:
Post a Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *