PM ने देश के सबसे लंबे सी-ब्रिज का उद्घाटन किया:21.8 KM लंबा ब्रिज मुंबई नवी मुंबई को जोड़ेगा; 2 घंटे का सफर 20 मिनट में पूरा होगा

लंबा ब्रिज मुंबई-नवी मुंबई को जोड़ेगा

शुक्रवार को देश का सबसे लंबा सी-ब्रिज अटल सेतु प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उद्घाटित किया। यह ब्रिज नवी मुंबई को मुंबई से जोड़ देगा। इससे दो घंटे की यात्रा २० मिनट में पूरी होगी। इस पुल का उद्घाटन दिसंबर 2016 में मोदी ने किया था। पुल का पूरा खर्च 17843 करोड़ रुपये है।22.8 किलोमीटर लंबे सिक्स लेन ब्रिज को मुंबई ट्रांस हार्बर सी-लिंक (MTHL) भी कहते हैं। पुल का 5.5 किलोमीटर जमीन पर है और 16.5 किलोमीटर समुद्र पर है। इस पुल को हर दिन 70 हजार वाहनों की क्षमता है। फिलहाल, ब्रिज से हर दिन लगभग 50 हजार वाहन गुजरते हैं।

MTHL की वेबसाइट के अनुसार, पुल का उपयोग हर साल एक करोड़ लीटर ईंधन बचाता है। यह ईंधन की एक करोड़ प्रतिदिन बचाने के बराबर है। साथ ही, प्रदूषण का स्तर कम होने से लगभग २५,६८० मैट्रिक टन CO2 का उत्सर्जन भी कम होगा।पुल को बनाने में 5.04 लाख मीट्रिक टन सीमेंट और 1.78 लाख मीट्रिक टन स्टील का उपयोग हुआ था। ब्रिज में चार सौ CCTV कैमरे लगे हैं। ब्रिज पर पक्षियों और समुद्री जीवों की सुरक्षा के लिए आधुनिक प्रकाश और साउंड बैरियर लगाए गए हैं। ब्रिज का जीवन सौ वर्ष का होगा।

नवी मुंबई और मुंबई में कनेक्टिविटी बेहतर होगी


मुंबई से नवी मुंबई जाने के लिए पहले सानपाड़ा हाईवे होता था। इससे यात्रा कम से कम दो घंटे लगती थी, लेकिन अटल सेतु की वजह से अब २० मिनट में पूरी होगी। इसके अलावा, मुंबई से पुणे, गोवा और उत्तरी भारत तक जाने में भी कम समय लगेगा।
अटल सेतु ठाणे क्रीक चैनलों, पीर पाउ जेट्टी और सेवरी मडफ्लैट्स के ऊपर से गुजरेगा। यह नवी मुंबई में चिरले और मुंबई में सेवरी को जोड़ेगा। सेवरी छोर पर, MTHL सेवरी-वर्ली एलिवेटेड कॉरिडोर और ईस्टर्न फ्रीवे से जुड़ने के लिए तीन स्तरीय इंटरचेंज की सुविधा देगा। शिवाजी नगर, नवी मुंबई के पास पुल चिरले में इंटरचेंज होगा।

मुंबई
Mumbai, Jan 07 (ANI): A view of the newly constructed Longest Sea Bridge Atal Setu which will be inaugurated by Prime Minister Narendra Modi on January 12th, in Mumbai on Sunday. (ANI Photo)

नवी मुंबई की ओर MTHL की कनेक्टिविटी 3 जगहों पर: 


पहला- नवी मुंबई की तरफ शिवाजी नगर इंटरचेंज, दूसरा- कोस्टल रोड के साथ शिवाजी नगर इंटरचेंज, तीसरा- नवी मुंबई अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट और जवाहर लाल नेहरू पोर्ट ट्रस्ट (JNPT)।
जसाई के पास SH-54 पर रैंप:
 यह पनवेल को उरण स्टेट हाईवे (SH-54) से कनेक्ट करेगी। जसाई के पास नेशनल हाईवे 4बी पर इंटरचेंज- यह इंटरचेंज पनवेल, उरण और JNPT को कनेक्ट करेगी।

बाइक-रिक्शा बैन, 4 व्हीलर की मैक्सिमम स्पीड 100 KMPH
लोगों की सुरक्षा को देखते हुए कुछ जरूरी गाइडलाइन भी जारी की गई हैं। इसके तहत ब्रिज पर मोटरसाइकिल, मोपेड, तिपहिया वाहन, ऑटो और ट्रैक्टर नहीं चलेंगे। फोर-व्हीलर, मिनी बस और टू-एक्सेल व्हीकल की मैक्सिमम स्पीड 100 किलोमीटर प्रति घंटा निर्धारित की गई है। ब्रिज की चढ़ाई और उतार पर स्पीड 40 किलोमीटर प्रति घंटे से ज्यादा नहीं होगी।पुल पर एक तरफ का टोल 250 रुपए प्रति कार तय किया गया है। वहीं दोनों तरफ का टोल 375 रुपए प्रति कार होगा। मासिक पास टोल राशि का 50 गुना होगा।

पुल के 8.5 KM तक के हिस्से में नॉएज बैरियर लगाया गया
पुल का निर्माण समुद्र तल से 15 मीटर की ऊंचाई पर किया गया है। इसके लिए समुद्र तल में 47 मीटर तक गहरी खुदाई करनी पड़ी। पुल के आसपास भाभा परमाणु अनुसंधान केंद्र (BARC), ONGC और JNPT जैसे संवेदनशील एरिया हैं।

इसे देखते हुए पुल के 8.5 KM तक के हिस्से में नॉएज बैरियर और 6 किलोमीटर के हिस्से में साइड बैरिकेडिंग की गई है। इसके अलावा पक्षियों और समुद्री जीवों की सुरक्षा के लिए ब्रिज पर साउंड बैरियर और एडवांस लाइटिंग की गई है।

5 हजार से ज्यादा मजदूरों और इंजीनियरों ने रोज काम किया
पुल के बारे में पहली बार 1962 में स्टडी की गई थी। 1994 में इसकी फिजिबिलिटी रिपोर्ट बनाई गई। हालांकि यह इसके बाद भी प्रोजेक्ट का काम अटका रहा। 2006 में इसका टेंडर जारी किया गया, लेकिन काम नहीं हाे पाया। 2016 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस पुल की आधारशिला रखी।

2017 में मुंबई मेट्रोपॉलिटन रीजन डेवलपमेंट अथॉरिटी (MMRDA) और जापान इंटरनेशनल को-ऑपरेशन एजेंसी (JICA) के साथ एग्रीमेंट साइन किया। अप्रैल 2018 में इस प्रोजेक्ट पर काम शुरू हुआ। डेडलाइन अगस्त 2023 तय की गई। प्रोजेक्ट को पूरा करने के लिए औसतन रोज 5,403 मजदूरों और इंजीनियरों ने काम किया। पुल के निर्माण के दौरान 7 मजदूरों की जान भी गई।

Read more
Read more

Shares:
Post a Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *