राहुल बोले- प्राण प्रतिष्ठा का कार्यक्रम मोदी-RSS का फंक्शन:मुझे धर्म का फायदा नहीं उठाना 1

राहुल बोले- प्राण प्रतिष्ठा का कार्यक्रम मोदी-RSS का फंक्शन

राहुल गांधी ने कहा कि अयोध्या में 2 जनवरी को होने वाला रामलला मंदिर प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम मोदी-RSS का फंक्शन है। 22 तारीख को आरएसएस और बीजेपी ने इलेक्शन फ्लेवर दी है। कांग्रेस अध्यक्ष ने इसी कारण वहां पर जाने से इनकार कर दिया है। हम हर धर्म में शामिल हैं। कांग्रेस से बाहर जाना चाहने वाले व्यक्ति कर सकते हैं।
16 जनवरी को, भारत जोड़ो न्याय यात्रा के तीसरे दिन, राहुल ने ये बातें कहीं। राहुल गांधी ने अपनी यात्रा को कोहिमा (नगालैंड) के विश्वेमा गांव से शुरू किया। राहुल ने कहा कि I.N.D.I.A. में सीट शेयरिंग को लेकर अलायंस चुनाव लड़ेगा और जीतेगा। हमारी चर्चा सीट शेयरिंग पर जारी है।

ज्यादातर जगह आसान हैं, कुछ जगह थोड़ा कठिन हैं, लेकिन सीट शेयरिंग का प्रश्न हम आसानी से हल करेंगे।राहुल ने कहा कि छोटी-छोटी समस्याएं दूर हो जाएंगी, जबकि बिहार सीएम नीतीश कुमार को I.N.D.I.A का संयोजक बनाया गया था। सभी लोगों में समन्वय है।

15 जनवरी, न्याय यात्रा का दूसरा दिन: राहुल ने सोमवार को मणिपुर के मैतेई और कुकी समुदायों से इम्फाल वेस्ट के सेकमई की यात्रा शुरू की। राहुल ने पारंपरिक मणिपुरी जैकेट पहनी हुई थी, जिसमें उनका ट्रेडमार्क सफेद टी-शर्ट और पैंट था। राहुल यात्रा मार्ग पर बस से कई बार उतरे, भीड़ से बात करने और उनकी समस्याओं पर चर्चा करने के लिए। उन्हें पारंपरिक नृत्य प्रदर्शन भी देखा और लोगों से सेल्फी ली।

वे मैतेई और कुकी समुदायों से आए। गांधी ने भी कांगपोकपी जिले की यात्रा की, जहां पिछले मई में दो महिलाओं को बिना कपड़े के घुमाया गया था। रात को यात्रा नगालैंड पहुंची। मणिपुर की सीमा से राहुल पार्टी के सहयोगियों के साथ कोहिमा जिले के खुजामा गांव में पहुंचे। रात यहीं बिताई। 14 जनवरी, न्याययात्रा का पहला दिन: राहुल ने प्रधानमंत्री पर निशाना साधते हुए लोगों से मुलाकात की 14 जनवरी को मणिपुर के थौबल से भारत जोड़ो न्याय यात्रा पर निकले कांग्रेस सांसद राहुल गांधी।

यात्रा से पहले राहुल गांधी ने एक बैठक में कहा कि चुनाव में बहुत कम समय बचा है। इसलिए दोनों पैदल और बस चलाने का निर्णय लिया। यात्रा शुरू करने का सवाल उठाया गया, पश्चिम से करो, किसी ने उत्तर से कहा। राहुल ने कहा कि मैंने स्पष्ट रूप से कहा था कि अगली भारत जोड़ो यात्रा सिर्फ मणिपुर से शुरू हो सकती है। मणिपुर में बीजेपी ने घृणा की राजनीति की है। मणिपुर में माता-पिता, भाई-बहन सबके सामने मर गए और भारत के प्रधानमंत्री आज तक मणिपुर में आपके गले मिलने नहीं आए। ये शर्मनाक है।

राहुल 6 हजार किमी से ज्यादा का सफर करेंगे

66 दिनों तक चलने वाली भारत जोड़ो न्याय यात्रा देश के 15 राज्यों और 110 जिलों से होकर गुजरेगी। राहुल गांधी जगह-जगह रुक कर स्थानीय लोगों से संवाद करेंगे। इस दौरान राहुल 6700 किमी का सफर तय करेंगे। यात्रा 20 मार्च को मुंबई में खत्म होगी।20 मार्च को खत्म होने वाली यात्रा 15 राज्य और 110 जिलों के 337 विधानसभा सीटों को कवर करेगी। इस दौरान राहुल गांधी बस से और पैदल 6 हजार 713 किलोमीटर से ज्यादा का सफर करेंगे। यह मणिपुर से शुरू होकर नगालैंड, असम, मेघालय, पश्चिम बंगाल, बिहार, झारखंड, ओडिशा, छत्तीसगढ़, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, राजस्थान और गुजरात से होते हुए महाराष्ट्र में खत्म होगी।

भारत जोड़ो न्याय यात्रा एक दिन के लिए मणिपुर में रहेगी। इसके बाद यह नगालैंड में प्रवेश करेगी और दो दिनों में 257 KM और 5 जिलों को कवर करेगी और आठ दिनों में असम में 833 KM और 17 जिलों को कवर करेगी। इसके बाद यात्रा एक-एक दिन के लिए अरुणाचल प्रदेश और मेघालय जाएगी। रूट मैप के मुताबिक, यात्रा पश्चिम बंगाल में पांच दिनों तक चलेगी, जिसमें 523 KM और सात जिले शामिल होंगे। बिहार में चार दिन तक 425 किमी और 7 जिलों को कवर किया जाएगा। इसके बाद झारखंड में यात्रा आठ दिन में 804 KM और 13 जिलों को कवर करेगी।

राहुल 6 हजार किमी से ज्यादा का सफर करेंगे

15 राज्यों की 100 लोकसभा सीटों को कवर करेगी भारत जोड़ो न्याय यात्रा

ओडिशा में न्याय यात्रा चार दिन में 341 KM और चार जिलों को कवर करेगी और छत्तीसगढ़ में पांच दिन में 536 KM और सात जिलों को कवर करेगी। कांग्रेस की यह यात्रा उत्तर प्रदेश में सबसे ज्यादा 11 दिन का समय बिताएगी और 20 जिलों को कवर करेगी। मध्य प्रदेश में यात्रा सात दिनों में 698 KM और 9 जिलों को कवर करेगी। यह एक दिन में राजस्थान के 2 जिलों जाएगी। राहुल की यह यात्रा गुजरात और महाराष्ट्र में पांच-पांच दिनों तक चलेगी, जो क्रमशः 445 किमी और 479 किमी की दूरी तय करेगी। इसका समापन 20 या 21 मार्च को मुंबई में होगा।

Read more
Read more



Shares:
Post a Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *