दिन 3: रामलला की प्राण प्रतिष्ठा प्रधानमंत्री मोदी ने श्रीराम मंदिर में डाक टिकट जारी किए

रामलला की प्राण प्रतिष्ठा प्रधानमंत्री मोदी

16 जनवरी से अयोध्या में चल रहे प्राण प्रतिष्ठा अनुष्ठान का गुरुवार को तीसरा दिन है। आज दोपहर पौने एक बजे गर्भगृह में रामलला की मूर्ति रखी जा सकती है। इसका स्थान रामयंत्र होगा। 17 जनवरी को जन्मभूमि मंदिर परिसर में रामलला की 200 किलोग्राम की नई मूर्ति को गर्भगृह में स्थापित किया गया था। उस समय मूर्ति को परिसर में घुमाया जाना था, लेकिन भारी होने के कारण इसकी जगह रामलला की 10 किलो चांदी की मूर्ति रखी गई।

22 जनवरी को श्रीरामलला की प्राण प्रतिष्ठा अयोध्या में होगी ।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस दौरान उपस्थित रहेंगे। वहीं, भारतीय मौसम विभाग (IMD) ने अयोध्या और आसपास के क्षेत्रों का मौसम जानने के लिए एक नया वेबपेज बनाया। सिकंदराबाद में एक व्यक्ति ने रामलला के भोग के लिए 1265 किलो का लड्डू बनाया है। सड़क मार्ग ही इसे ले जाएगा। लड्डू को फ्रिज में रखा गया है। प्रसाद भी अयोध्या ले जाने से पहले हनुमान मंदिर में पूजा की गई।
सिकंदराबाद में एक व्यक्ति ने रामलला के भोग के लिए 1265 किलो का लड्डू बनाया है। सड़क मार्ग ही इसे ले जाएगा। लड्डू को फ्रिज में रखा गया है। प्रसाद भी अयोध्या ले जाने से पहले हनुमान मंदिर में पूजा की गई।

रामलला की प्राण प्रतिष्ठा प्रधानमंत्री मोदी

चार हजार महिलाओं ने रामलला की प्राण प्रतिष्ठा के निर्विघ्न संपन्न होने के लिए राम की पैड़ी पर दुरदुरिया पूजन किया। राजलक्ष्मी, महापौर गिरीशपति त्रिपाठी की पत्नी, भी इसमें शामिल हुईं। गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने श्री राम जन्मभूमि मंदिर पर स्मारक डाक टिकट जारी किया। इसके अलावा प्रधानमंत्री ने भगवान राम पर विश्वव्यापी टिकटों की एक किताब भी जारी की। मोदी ने छह डाक टिकट निकाले हैं। इनमें भगवान गणेश, हनुमान, जटायु, केवटराज, राम मंदिर और मां शबरी शामिल हैं।गुजरात के एक कारोबारी ने भगवा रंगों से अपनी कार को सजाया है। कार पर भगवान राम, राम मंदिर और श्लोक लगाए गए।

अयोध्या के मौसम का वेबपेज छह भाषाओं में उपलब्ध होगा

भारतीय मौसम विभाग ने एक अलग वेबसाइट बनाई है। इसमें अयोध्या और आसपास के क्षेत्रों का मौसम बताया जाएगा। हिंदी, अंग्रेजी, उर्दू, चीनी, फ्रेंच और स्पेनिश में मौसम की जानकारी सुनिए। हिंदी-अंग्रेजी में आने वाले सात दिनों का वेदर बुलेटिन और सूर्योदय और सूर्यास्त का समय भी सुना जा सकेगा। अयोध्या में रामलला की प्राण प्रतिष्ठा के पहले सभी मंदिर सज-धज कर तैयार हैं। आज सुबह हनुमानगढ़ी मंदिर के गर्भगृह में हनुमानजी की भव्य आरती की गई। बरेली (यूपी) के परफ्यूम बिजनेसमैन ने भगवान रामलला की प्राण प्रतिष्ठा के लिए विशेष केसर धूप और परफ्यूम बनाया है।

राम मंदिर के पुजारी संतोष तिवारी ने गुरुवार सुबह रामलला के आसन की पूजा की। यहीं दोपहर में रामलला की मूर्ति को स्थापित किया जाएगा। इसे मकराना के श्वेत संगमरमर से बनाया गया है।

कर्नाटक के मूर्तिकार योगीराज ने बनाई है रामलला की मूर्ति

रामलला


श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने बताया था कि गर्भगृह में स्थापित होने वाली रामलला की प्रतिमा का वजन 150 से 200 किलो है। रामलला की खड़ी प्रतिमा स्थापित होगी। इसे कर्नाटक के मूर्तिकार अरुण योगीराज ने बनाया है। मूर्ति बनाते वक्त वह 15-15 दिन परिवार से बात नहीं करते थे

इसके लिए सभी बसों में म्युजिक बाक्स लगाया जाएगा।

अभी तक अयोध्या रोड से जुड़ी बसों में म्यूजिक बॉक्स लगाने का फैसला किया गया

अयोध्या प्राण प्रतिष्ठता के साथ पूरे प्रदेश को राममय करने की तैयारी शुरू हो गई है। एक पहल परिवहन निगम करने जा रहा है। प्रदेश के सभी बसों में अब रामधुन सुनाई देगी। इसके लिए सभी बसों में म्युजिक बाक्स लगाया जाएगा। अभी तक अयोध्या रोड से जुड़ी बसों में म्यूजिक बॉक्स लगाने का फैसला किया गया था। हालांकि अब सभी बसों में इसको लगाया जाएगा। ऐसे में यूपी रोडवेज से प्रतिदिन सफर करने वाले 17 लाख लोगों को रामधुन सुनाई देगी।

अयोध्या में लता मंगेशकर चौक बनाया गया है। 28 सितंबर 2022 को उनकी 93वीं जयंती के अवसर उत्तर प्रदेश के अयोध्या में सीएम योगी आदित्यनाथ ने उद्घाटन किया था। इस पर 40 फीट लम्बी वीणा लगाई गई है, जिसका वजन 14 टन है।

Read more
Read more

Shares:
Post a Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *