भारत में एलएनजी इकोसिस्टम को मजबूत करने के लिए अदाणी टोटल गैसऔर आईनॉक्ससीवीए ने हाथ मिलाया

अहमदाबाद, 5 फरवरी 2024: भारत की अग्रणी शहरी गैस वितरण कंपनी अदाणी टोटल गैस लिमिटेड (एटीजीएल) और गुजरात स्थित आईनॉक्स इंडिया लिमिटेड (आईएनओएक्ससीवीए) ने हाथ मिलाया है। एक समझौते के तहत एटीजीएल और आईएनओएक्ससीवीए देश में एलएनजी इकोसिस्टम को मजबूत करने के लिए संभावित सहयोग के अवसरों की पहचान करने और तलाशने के लिए एलएनजी और एलसीएनजी उपकरण और सेवाओं की डिलीवरी के लिए पारस्परिक रूप से “पसंदीदा भागीदार” का दर्जा देंगे।

पसंदीदा भागीदार के रूप में एटीजीएल को कुछ परियोजना स्तर के लाभ होंगे जिसमें एटीजीएल को मिलकर काम करने के अवसर और एडवांस स्केड्यूल के साथ एलएनजी/एलसीएनजी, एलएनजी उपग्रह स्टेशन स्थापित करने, परिवहन ईंधन के रूप में एलएनजी में परिवर्तन, एलएनजी के लिए सहयोगी अवसरों जैसे विचार शामिल है। लॉजिस्टिक्स के साथ ही उद्योग के लिए छोटे पैमाने पर तरल हाइड्रोजन सॉल्यूशन विकसित करना भी इसमें शामिल होगा।

आपसी सहयोग समझौते में छोटे पैमाने के एलएनजी प्लांट, एलएनजी स्टेशन सहित एलएनजी इन्फ्रास्ट्रक्चर को विकसित करने, एलएनजी पर भारी वाहनों के कन्वर्जन के लिए अर्थव्यवस्था तैयार करने, एचएसई के लिए सर्वोत्तम प्रणाली को विकसित करने में दोनों पक्षों की भूमिका और दायित्व शामिल हैं। जिसमें फ्यूल एफिशिएंसी, हाई क्वालिटी कन्वर्जन और कई तरह सर्विस शामिल है।

आपसी सहयोग पर बोलते हुए, एटीजीएल के कार्यकारी निदेशक और सीईओ, सुरेश पी मंगलानी ने कहा, “वायु प्रदूषण और ग्रीनहाउस गैस (जीएचजी) उत्सर्जन बढ़ रहा है। तीव्र औद्योगिक विकास और माल के परिवहन के लिए भारी वाहनों में भारी वृद्धि के साथ, आगे चलकर चुनौतियाँ और भी विकराल हो जाएंगी। आईनॉक्ससीवीए के साथ यह साझेदारी एटीजीएल को लंबी दूरी के भारी वाहनों, वर्तमान में एचएसडी/डीजल का उपयोग करने वाली बसों को एलएनजी में बदलने में मदद करेगी जिससे कार्बन डाइऑक्साइड और जीएचजी उत्सर्जन में 30% से अधिक की कमी लाने में मदद मिलेगी। परिवहन ईंधन के रूप में एलएनजी को अपनाने के लिए संचालकों का विश्वास बढ़ाने के लिए एटीजीएल देश भर में तेजी से एलएनजी स्टेशन स्थापित करेगी।”
आईनॉक्ससीवीए के प्रमोटर और गैर-कार्यकारी निदेशक सिद्धार्थ जैन ने कहा, “जैसा कि हमारी अर्थव्यवस्था तेजी से आगे बढ़ने के लिए तैयार है, यह जरूरी है कि हम यह सुनिश्चित करने पर भी ध्यान केंद्रित रखें कि परिवर्तन टिकाऊ तरीके से हो। इसलिए, हम एटीजीएल के साथ अपने सहयोग को लेकर उत्साहित हैं, जो एलएनजी इकोसिस्टम को मजबूत करेगा और परिवहन ईंधन के रूप में एलएनजी का निर्माण और प्रचार करेगा। दोनों पक्षों की विशेषज्ञता द्वारा समर्थित हमारा संयुक्त तालमेल वास्तव में उत्सर्जन को कम करने और अर्थव्यवस्था में हितधारकों को फायदा पहुंचाएगा और ग्रीन ट्रांजिशन की दिशा में महत्वपूर्ण योगदान देगा।

Shares:
Post a Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *