एंडोक्राइनॉलोजी के बारे में ज्यादा से ज्यादा जागरूकता की जरूरत

ब्रिलियंट कन्वेंशन सेंटर में आयोजित एंडोक्राइनॉलोजी कॉन्फ्रेंस में 300 से ज्यादा डेलीगेट्स हुए शामिल

इंडेक्स मेडिकल कॉलेज, इंदौर से डायबिटीज (मधुमेह) व थायराइड से संबंधित रिसर्च पेपर प्रस्तुत किया

इंदौर। मध्य एंडोक्राइन सोसाइटी द्वारा आयोजित इस कॉन्फ्रेंस में एमडी फिजिशियन और एंडोक्राइनोलॉजिस्ट डॉक्टर्स शामिल हुए। कॉन्फ्रेंस में 200 से अधिक डेलीगेट्स शामिल हुए। इस कॉन्फ्रेंस में सभी टॉपिक इस प्रकार के रखे गए कि एंडोक्राइनॉलोजी के बारे में ज्यादा से ज्यादा जागरूकता फैलाई जा सके। इसके अलावा, मरीजों के ट्रीटमेंट लैब टेस्ट और उनके रिजल्ट को बेहतर तरीके से इस्तेमाल करने पर भी फोकस किया गया।

एपीआई इंदौर के सेक्रेटरी डॉ. अभ्युदय वर्मा ने बताया कि मधुमेह और थायराइड जैसी बीमारी आज हर उम्र के लोगों को हो रही है। इसमें खानपान और गलत लाइफस्टाइल इस बीमारी को और बढ़ाने का काम कर रही है। ऐसे समय में सही एंडोक्राइनोलॉजिस्ट से इलाज और मार्गदर्शन के जरिए आप खुद को स्वस्थ रख सकते हैं।

इस अवसर पर पीजी डॉक्टर्स द्वारा केस भी प्रस्तुत किए गए। इंडेक्स मेडिकल कॉलेज, इंदौर से डॉ. मेघराज सिंह ने डायबिटीज (मधुमेह) व थायराइड से संबंधित रिसर्च पेपर तथा जन्मजात रोग व थायराइड से संबंधित ई-पोस्टर प्रस्तुत किए, जिन्हें वरिष्ठ चिकित्सकों ने काफी सराहा तथा प्रमाणपत्र देकर सम्मानित भी किया। डॉ. मेघराज सिंह ने इसका श्रेय अपने गाइड डॉ. सुधीर मौर्य के कुशल मार्गदर्शन को दिया।

कॉन्फ्रेंस में डॉ. सुबोध बैंजल आयोजन अध्यक्ष, डॉ. सुनील एम. जैन, आयोजन सचिव, डॉ. राजेश वर्मा, कोषाध्यक्ष और डॉ. अपूर्वा सूरन और डॉ. सिद्धार्थ राखे भी उपस्थित थे।

Shares:
Post a Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *