लोकसभा चुनाव में जैन समाज को प्रतिनिधित्व दिया जाए


राजेश जैन दद्दू
इंदौर ज्ञातव्य है कि देश में जैन समाज के लगभग तीन करोड़ लोग निवासरत है।
लगभग १२००० गौ शालाएं समाज द्वारा संचालित होती है।
देश में एकत्रित होने वाले टैक्स का लगभग २४ प्रतिशत भाग जैन समाज द्वारा दिया जाता है।
समाज में ९९ प्रतिशत लोग शिक्षित है।
लगभग १५००० जैन मंदिरों का संचालन समाज द्वारा किया जाता है।
देश की अधिकांश शिक्षण संस्थाओं का संचालन भी समाज द्वारा किया जाता है।
संविधान सभा में ६ जैन सदस्यो की भागीदारी थी।
देश की प्रथम द्वितीय व तृतीय लोकसभा में जैन समाज के लगभग ५० सदस्य हुआ करते थे। जैन राजनैतिक चेतना मंच के मिडिया प्रभारी राजेश जैन दद्दू ने बताया कि
मध्यप्रदेश की प्रथम ३ विधानसभाओं में भी समाज के ५०से अधिक विधायक होते थे।
जैनसमाज के मध्यप्रदेश में कई मुख्य मंत्री भी रहे है।
धीरे धीरे राष्ट्रीय राजनैतिक पार्टियों में तथा लोकसभा राज्यसभा और विधानसभाओं में समाज का प्रतिनिधित्व समाप्त होता गया तथा क्या कारण है कि वर्तमान लोक सभा में समाज का कोई भी सदस्य नहीं है।
वर्तमान लोकसभा चुनाव में राष्ट्रीय राजनैतिक पार्टियों से जैन समाज की पुरजोर मांग है कि न केवल लोकसभा चुनाव में अपितु पार्टियों के संगठन में भी समाज को समुचित प्रतिनिधित्व दिया जावे।

Shares:
Post a Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *