महिला दिवसः सब के लिए एक समान भविष्य हेतु प्रयासरत है वेदांता एल्यूमिनियम

कंपनी द्वारा की गई पहलें सामाजिक-आर्थिक प्रगति में महिलाओं द्वारा दिए जा रहे बराबरी के योगदान को रेखांकित करती हैं

भारत की सबसे बड़ी एल्यूमिनियम उत्पादक वेदांता एल्यूमिनियम ने इस साल अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के मौके पर ऑनलाइन तथा जमीनी स्तर पर कई कार्यक्रम आयोजित किए। अपनी इन पहलकदमियों के द्वारा कंपनी ने अपनी इस प्रतिबद्धता को दोहराया कि वह महिलाओं के लिए अवसरों का विस्तार करते हुए उनके लिए एक समावेशी भविष्य बनाने हेतु प्रयासरत है। वेदांता एल्यूमिनियम उन कंपनियों में से है जहां इस उद्योग में पुरुष व महिला कर्मियों का अनुपात उच्चतम है। वेदांता ऐल्यूमिनियम सक्रियता से कोशिशों में लगी है कि निकट भविष्य में उसके कुल कर्मचारियों में एक तिहाई महिला कर्मचारी हों।

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस से पहले कंपनी ने एक अभूतपूर्व कैम्पेन शुरु की जिसका शीर्षक है #TheFutureOfMetAL इसके तहत ए.आई. वीडियो एवं लघु फिल्मों का मिश्रण प्रस्तुत किया गया। इस कैम्पेन की कोशिश है कि धातु, खनन एवं आधुनिक मैन्युफैक्चरिंग उद्योगों के पुरुष प्रधान होने की मिथ्या धारणाओं को दूर किया जाए। इस कैम्पेन द्वारा दृढ़ निश्चयी महिला पेशेवरों से परिचित कराया गया जो पहले से इस उद्योग में काम कर रही हैं और महिलाओं की रोल मॉडल बनी हैं। इसके जरिए, कंपनी का इरादा और अधिक महिलाओं को प्रेरित करने का है ताकि वे भी इन क्षेत्रों में कामयाब करियर बना सकें।

वेदांता एल्यूमिनियम एक समान अवसर देने वाली नियोक्ता है, कंपनी कोशिश करती है कि वह कार्यस्थल व उससे परे भी महिला सशक्तिकरण हेतु काम करे और उनके जीवन में अर्थपूर्ण बदलाव ला सके। इन्हीं इरादों के साथ वेदांता एल्यूमिनियम की इकाईयों ने अपनी महिला कर्मचारियों एवं समुदाय की सदस्यों की उपलब्धियों का उत्सव मनाने के लिए अनेक गतिविधियों का आयोजन किया जिनमें जागरुकता सत्र और दिलचस्प गतिविधियां शामिल रहे और जिनसे जीवन के हर पहलू में ज्यादा समावेशन को बढ़ावा मिला।

इस अवसर पर वेदांता एल्यूमिनियम के सीईओ श्री जॉन स्लेवन ने कहा, ’’महिलाओं की भागीदारी बढ़ने से कौशल एवं दृष्टिकोण में जो विविधता आती हैं उससे संगठन ज्यादा मजबूत व लोचनीय बनते हैं और उन्हें दीर्घकालिक लाभ होता है। इसलिए वेदांता एल्यूमिनियम एक न्यायसंगत परिवेश विकसित करने के लिए समर्पित है जिससे विविधतापूर्ण एवं समावेशी टीमें बनेंगी। भारत की सबसे बड़ी एल्यूमिनियम उत्पादक कंपनी होने के नाते हम एक ऐसी संस्कृति का निर्माण कर रहे हैं जिसमें किसी भी अन्य चीज के बजाय लगन व कर्मठता को पुरस्कृत किया जाए। बेहतर नवाचार एवं व्यापारिक उत्कृष्टता के लिए किए जा रहे हमारे निरंतर प्रयासों में यह निर्माण बेहद अहम साबित होगा।’’

झारसुगुडा में कंपनी के मेगा एल्यूमिनियम स्मेल्टर में, भारत के सबसे बड़े महिला सहकारी संगठनों में से एक वेदांता के शुभलक्ष्मी कोऑपरेटिव को जिला सांस्कृतिक कार्यालय में आयोजित महिला दिवस समारोह में सम्मानित किया गया। इस मौके पर आंत्रप्रिन्योरशिप डैवलपमेंट इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के विशेषज्ञों ने एक जानकारीपूर्ण सत्र में यह भी समझाया कि उद्यम के ईकोसिस्टम में महिलाओं को शामिल करना कितना महत्वपूर्ण एवं लाभदायक है। इस आयोजन के दौरान एक स्टॉल भी लगाया गया था जिसमें शुभलक्ष्मी कोऑपरेटिव के तहत स्वयं सहायता समूहों द्वारा बनाए गए उत्पाद प्रदर्शित किए गए।

इसके अलावा कर्मचारियों एवं उनके परिवारों ने ’रन फॉर इनक्लुज़न’ मैराथन में भाग लिया जिसके जरिए शारीरिक रूप से सक्रिय रहने की अहमियत को प्रचारित किया गया। उन्होंने अहम विषयों पर हुए वेबिनार में भी हिस्सा लिया जैसे बेइरादा पक्षपात, यह कारक कार्यस्थल पर न्यायसंगत प्रगति में बाधा बनता है। कंपनी ने वित्तीय योजना कार्यशाला तथा तनाव प्रबंधन और भावनात्मक स्वास्थ्य कायम रखने पर भी वेबिनार किया।

वेदांता एल्यूमिनियम के खनन प्रभाग ने जमखानी, गिरिस्मा व कुरालोई इलाकों में स्थित अपने प्रचालनों के आसपास रहने वाले समुदायों के 740 से अधिक लोगों के साथ महिला दिवस मनाया। इसके तहत पारंपरिक प्रतियोगिताएं जैसे रंगोली रचना, शंख वादन व मटकी फोड़ आयोजित की गईं और इनके अलावा स्तनपान कराने वाली एवं गर्भवती महिलाओं के लिए विशेष खाना पकाने की प्रतियोगिता भी रखी गई।

वेदांता एल्यूमिनियम की लांजिगढ़ इकाई में प्रचालनों के आसपास की 6 ग्राम पंचायतों की लगभग 2000 महिलाओं के लिए कार्यक्रम आयोजित किया गया। इकाई में सभी महिला कर्मचारियों के लिए एक ऐक्सक्लूसिव टाउन हॉल भी आयोजित किया गया जहां उन्हें अपने अनुभव साझा करने एवं अपनी उपलब्धियों का जश्न मनाने को प्रोत्साहित किया गया। इसके बाद मोटापे पर जागरुकता सत्र हुआ जो वर्तमान की एक आम स्वास्थ्य चिंता है।

वाइज़ैग जनरल कार्गो बर्थ (वीजीसीबी) पोर्ट ऑपरेशंस में प्रोजेक्ट जीविका के 70 से अधिक लाभार्थियों के लिए एक मेलजोल कार्यक्रम आयोजित किया गया। प्रोजेक्ट जीविका एक महिला सशक्तिकरण कार्यक्रम है जिसके तहत महिलाओं को स्नैक बनाने और ब्यूटी केयर जैसे आजीविका कौशल सिखाए जाते हैं। इसके बाद महिलाओं के कानूनी अधिकारों पर एक सत्र भी रखा गया।

भारत के आइकॉनिक एल्यूमिनियम स्मेल्टर तथा वेदांता एल्यूमिनियम की इकाई बाल्को में गर्भाशय ग्रीवा कैंसर के विषय पर जागरुकता सत्र रखा गया जो महिला स्वास्थ्य का एक अहम मुद्दा है। लगभग 50 महिला कर्मचारियों को कंपनी में उनके असाधारण योगदान के लिए सम्मानित किया गया। उन्हें प्रोजेक्ट उन्नति की ओर से विशेष उपहार भी प्राप्त हुए, जो कि बाल्को के सहयोग से चलने वाला महिलाओं का एक स्वयं सहायता समूह है।

इसके अलावा इस इकाई ने उन्नति उत्सव का तीसरा संस्करण भी आयोजित किया जहां स्वयं सहायता समूह की सदस्याओं ने खुद बनाए गए खाद्य उत्पादों से लेकर सजावट का सामान तक अनेक उत्पादों का प्रचार एवं बिक्री की। आसपास के समुदायों से लगभग 1000 लोग इस उत्सव में आए। यह मौका अहम विषयों पर जागरुगता फैलाने का भी था जैसे मासिक धर्म में स्वास्थ्य की देखभाल। आयोजन के दौरान बाल्को ने एक उन्नत मोबाइल हैल्थ वैन भी लांच की, दूरदराज़ इलाकों में निशुल्क, प्राथमिक स्वास्थ्य सेवाएं पहुंचाने की यह एक अहम पहल है।

वेदांता एल्यूमिनियम में महिला पेशेवर पारंपरिक रूप से पुरुष प्रधान आधुनिक मैन्युफैक्चरिंग के क्षेत्र में प्रगति कर रही हैं। महिलाएं कोर ऑपरेशंस व तकनीकी, दोनों भूमिकाओं को सफलतापूर्वक निभाते हुए कारोबार, धातु उत्पादन, संयंत्र प्रबंधन, बिजली उत्पादन, इंफ्रास्ट्रक्चर, लॉजिस्टिक्स व सम्पत्ति सुरक्षा जैसे दायित्व संभाल रही हैं। कंपनी के कर्मचारी विश्व स्तरीय टाउनशिप्स में रहते हैं जहां उन्हें सभी सुविधाएं उपलब्ध हैं जैसे अस्पताल, स्कूल, मूवी थिएटर, डेकेयर सेंटर, पूजा स्थल, शॉपिंग कॉम्पलेक्स व मनबहलाव केन्द्र। इसके अलावा कंपनी द्वारा सहयोगकारी नीतियां भी लागू की गई हैं जैसे जीवनसाथी को नौकरी और नवजात बच्चों की कामकाजी मांओं को काम के लचीले घंटे।

वेदांता लिमिटेड की इकाई वेदांता एल्यूमिनियम भारत की सबसे बड़ी एल्यूमिनियम उत्पादक है। वित्तीय वर्ष 23 में 22.9 लाख टन उत्पादन के साथ कंपनी ने भारत के कुल एल्यूमिनियम का आधे से ज्यादा हिस्सा उत्पादित किया। यह मूल्य संवर्धित एल्यूमिनियम उत्पादों के मामले में अग्रणी है जिनका उपयोग कई अहम उद्योगों में किया जाता है। वेदांता एल्यूमिनियम को एल्यूमिनियम उद्योग में एस एंड पी ग्लोबल कॉर्पोरेट सस्टेनेबिलिटी असैसमेंट 2023 में पहली वैश्विक रैंकिंग मिली है, यह उपलब्धि कंपनी की सस्टेनेबल विकास प्रक्रियाओं को प्रतिबिम्बित करती है। भारत में अपने विश्वस्तरीय एल्यूमिनियम स्मेल्टर्स और एल्यूमिना रिफाइनरी के साथ कंपनी हरित भविष्य के लिए विभिन्न कार्यों में एल्यूमिनियम के प्रयोग को बढ़ावा देने और इसे ’भविष्य की धातु’ के रूप में पेश करने के अपने मिशन में लगातार आगे बढ़ रही है। www.vedantaaluminium.com

Shares:
Post a Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *